नई दिल्ली. लड़की पैदा होने पर सरकार द्वारा चलाई जा रही लाभकारी लाडली योजना का कई लोगों ने लाभ लिया है, लेकिन अब इस योजना के नाम पर भी फ्रॉड किया जाने लगा है. कई लोगों को लाडली योजना के नाम पर चपत लग चुकी है और वे अपने हजारों-लाखों रुपये खो चुके हैं. ताज़ा मामला है छत्तीसगढ़ का और इसमें एक नर्स को शिकार बनाया गया है, जिसके घर में कुछ समय पहले ही बेटी ने जन्म लिया था. ये ख़बर आपको अवश्य पढ़नी चाहिए और शेयर करके अपने नजदीकी लोगों तक पहुंचानी भी चाहिए, ताकि आप या आपका कोई करीबी इस फ्रॉड का शिकार न हो.

बता दें कि New18Hindi ने लोगों को जागरुक करने के लिए एक सीरीज़ चलाई है, जिसके तहत अलग-अलग तरह के फ्रॉड्स के बारे में बताया जाता है. ये भी बताया जाता है कि आप ऐसे फ्रॉड्स से किस तरीके से बच सकते हैं. आप पूरी सीरीज़ यहां पढ़ सकते हैं – यहां टैप करें.

नर्स को दिया लालच और लूटा

पत्रिका डॉट कॉम की एक खबर के अनुसार, छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर शहर से ये मामला सामने आया है. अंबिकापुर के लक्ष्मीनगर की रहने वाली स्टाफ नर्स वंदना को शिकार बनाया गया है. वंदना ने अब पुलिस को शिकायत देते हुए बताया है कि उनके साथ 50 हजार रुपये की ठगी हुई है. पुलिस ने मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है.

ये भी पढ़ें – 11 रुपये वाला ये ‘रिचार्ज’ करने चले थे, लुट गए

पिछले सोमवार को वंदना के पास एक फोन आया. एक व्यक्ति ने फोन पर पूछा कि आपने अभी तक लाडली योजना के तहत सरकार से अपना पैसा क्यों नहीं लिया है? इस पर वंदना ने पूछा कि कैसे मिलेगा और क्या करना होगा? उस व्यक्ति ने बताया कि बड़ी आसान सी प्रक्रिया है. यदि आप फोन पे (Phone Pe) का इस्तेमाल करती हैं तो आपको अपना नंबर और यूपीआई (UPI) डीटेल देनी होगी. चूंकि आपका पैसा सरकार की तरफ से जारी हो चुका है, तो उसे केवल ट्रांसफर करना बाकी है.

उस व्यक्ति की बात सुनकर वंदना ने उसे अपने फोन पे (Phone Pe) की जानकारी दे दी. फिर इस ठग ने कुछ और जानकारी मांगी तो वह भी वंदना ने शेयर कर दी. अब उसने कहा, ‘मैं आपके खाते में 20 हजार रुपये ट्रांसफर कर रहा हूं, कृपया उसे चेक कर लें.’ इस पर वंदना ने जैसे ही अपना फोन पे ऐप खोला तो उनके खाते से 50 हजार रुपये निकाल लिए गए.

क्या हुआ होगा, समझिए

आपके फोन पे (Phone Pe) से पैसा निकालने के लिए एक ओटीपी (OTP) की आवश्यकता होती है. यदि आपने वह ओटीपी किसी को नहीं बताया तो आपके खाते से पैसा नहीं निकल सकता. और दूसरी बात, फोन पे के जरिए आपको पैसा ट्रांसफर करने के अलावा आपसे पैसे की रिक्वेस्ट की जा सकती है. मतलब कोई आपसे पैसा मांग भी सकता है. यदि आपने उसकी मांग (रिक्वेस्ट) को अक्सेप्ट (Accept) कर लिया और फोन पे में पिन डाल दिया तो आपका पैसा दूसरे के पास चला जाता है. इन दो तरीकों से ही फ्रॉड हो सकता है.

ये भी पढ़ें – जीवन बीमा की किस्त नहीं भर पाए तो मत चढ़ना इनके हत्थे!

स्टाफ नर्स वंदना के साथ हुई इस साइबर वारदात को समझें तो उनसे OTP मांग लिया गया होगा, जोकि वंदना ने शेयर कर दिया होगा. एक बार में एक ही OTP काम करता है तो समझा जा सकता है कि वंदना ने 2 या 2 से ज्यादा बार ओटीपी शेयर किया होगा.

क्या नहीं करना चाहिए था

ये पूरा खेल भरोसा पर टिका है. ये ठग किसी भी व्यक्ति को चूना लगाने से पहले उनका भरोसा जीतने की कोशिश करते हैं. जैसे कि बड़ा पैसा निकालने से पहले वे एक छोटा अमाउंट आपके अकाउंट में ट्रांसफर करते हैं, ताकि आप उनपर भरोसा कर लो. एक बार भरोसा बन गया तो फिर आपके अकाउंट से पैसा निकलने का सिलसिला शुरू हो जाता है.

यदि कोई भी व्यक्ति आपको फोन करता है तो आपको अपने बैंक अकाउंट या वॉलेट (फोन पे, गूगल पे, पेटीएम इत्यादी) की जानकारी उसके साथ शेयर नहीं करनी चाहिए. और OTP या पासवर्ड तो बिलकुल भी नहीं. यदि कोई आपको पैसा देने की बात करता है तो उसे कहें कि आप पर्सनली उसके पास आकर पैसा ले लेंगे. केवल इतना कहने पर ही फ्रॉड करने वाले समझ जाएंगे कि आप उनके झांसे में नहीं आएंगे वे फिर आपको फोन नहीं करेंगे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Bnews. : Publisher

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *