ऐक्‍ट्रेस तनुश्री दत्‍ता (Tanushree Dutta) ने हाल ही में बताया कि उन्‍हें कई बार मौत के करीब होने तक का अनुभव हुआ है और इसने उन्‍हें रिस्‍क लेने वाला बना दिया है। अब वह खुलकर जिंदगी जीती हैं। ऐक्‍ट्रेस की मानें तो जब वह छोटी थीं, तब डॉक्‍टर्स ने उनके पैरंट्स से कहा था कि अंतिम संस्‍कार (Funeral) के लिए तैयार रहें क्‍योंकि इसे गंभीर बीमारी है।

तनुश्री ने अपने बर्थडे (19 मार्च) के मौके पर एक इंटरव्‍यू के दौरान अपने बारे में ऐसी बातें बताईं जिनका खुलासा उन्‍होंने कभी नहीं किया था। ऐक्‍ट्रेस ने कहा, ‘मैं प्रीमच्‍योर बेबी (Premature) थी, 7 महीनों में पैदा हुई थी। जन्‍म के बाद ही मुझे जॉन्‍डिंस (Jaundice) हो गया और डॉक्‍टर्स ने हार मान ली। डॉक्‍टर्स ने मेरे पैरंट्स से कहा कि अंतिम संस्‍कार की तैयारी कीजिए लेकिन भाग्‍य में कुछ और लिखा था, मैं जीवित रही और फिर स्‍वस्‍थ थी।’

मुंबई लोकल से हो जाती टक्‍कर

इसके अलावा तनुश्री ने बताया कि एक बार एक मुंबई लोकल (Mumbai Local) उन पर से गुजर जाती क्‍योंकि वह अपनी दोस्‍त के साथ पैदल ट्रैक को पार कर रही थीं। ऐक्‍ट्रेस के मुताबिक, ‘एक मिनट या उससे भी कम समय था, फिल्‍म की तरह मेरी पूरी जिंदगी मेरे सामने फ्लैश हो गई थी।’

रोड ऐक्‍सिडेंट होते-होते बचा
यही नहीं, तनुश्री ने बताया कि एक बार तो उनका रोड ऐक्‍सिडेंट होते-होते रह गया था। इन सभी घटनाओं के कारण वह कहती हैं कि उन्‍होंने जिंदगी के लिए गहरा सम्‍मान विकसित कर लिया है। बता दें, तनुश्री कुछ साल पहले तब चर्चा में आई थीं जब #MeToo मूवमेंट के तहत उन्‍होंने ऐक्‍टर नाना पाटेकर (Nana Patekar) पर दुर्व्‍यवहार का आरोप लगाया था।

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Bnews. : Publisher

Leave a Reply