टीएमसी में गए संगमा, बोले- देश को मजबूत विपक्ष की जरूरत


Former CM Mukul Sangama: ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने कांग्रेस (Congress) को बड़ा झटका दिया है. मेघालय (Meghalaya) में कांग्रेस के 17 में से 12 विधायकों ने टीएमसी (Trinamool Congress) का दामन थाम लिया है. पूर्व मुख्यमंत्री मुकुल संगमा (Former CM Mukul Sangama) के साथ बागी विधायकों ने शिलांग में टीएमसी जॉइन किया. 

मुकुल संगमा ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर टीएमसी में शामिल होने की घोषणा की. उन्होंने कहा कि कांग्रेस देश में मुख्य विपक्षी दल की भूमिका निभाने में फेल रही है. देश को एक मजबूत विपक्ष की जरूरत है. संगमा ने कहा कि देश की बेहतरी के लिए हमने टीएमसी में जाने का फैसला किया है. हम राज्य के भविष्य के लिए नया ट्रेंड स्थापित करेंगे.

संगमा ने कहा कि मेघालय में हमारी एक टीम है. हमने लोगों का विश्वास जीता है. इस विश्वास की इज्जत होनी चाहिए. कांग्रेस के साथ रहकर हम विपक्षी दल की जिम्मेदारी निभाने में विफल हो रहे थे. चर्चा है कि विन्सेंट एच. पाला को मेघालय में प्रदेश कमिटी का मुखिया बनाए जाने के बाद संगमा नाराज चल रहे  थे. राहुल गांधी ने पिछले महीने संगमा और विन्सेंट की मुलाकात कराकर विवाद को खत्म करने का प्रयास भी किया था. 

राजनीतिक पंडितों का मानना है कि 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों के तहत टीएमसी ने यह पैतरा चला है. मेघालय में विकल्प तलाशने के लिए टीएमसी के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की टीम शिलांग में है. मेघालय प्रदेश तृणमूल कांग्रेस की औपचारिक शुरुआत 2012 में राज्य की 60 में से 35 सीटों पर चुनाव लड़ने के इरादे से की गई थी.

‘कांग्रेस में है गंभीर समस्याएं, ममता को न ठहराएं जिम्मेदार’
टीएमसी में कांग्रेस विधायकों के शामिल होने पर ममता पर पार्टी तोड़ने के आरोप लग रहे हैं. इस पर टीएमसी ने सफाई दी है. टीएमसी ने कांग्रेस को अयोग्य और अक्षम कहा. पार्टी की तरफ से कहा गया, ”कांग्रेस नेताओं के पार्टी छोड़ने के लिए ममता बनर्जी या पार्टी को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता. कांग्रेस में गंभीर समस्याएं हैं. ऐसा लगता है कि कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व की तुलना में पश्चिम बंगाल इकाई के प्रमुख अधीर रंजन चौधरी को इससे ज्यादा दिक्कत है.

मेघालय में अब टीएमसी मुख्य विपक्षी दल
मुकुल संगमा समेत 12 विधायकों के टीएमसी में शामिल होने के बाद मेघालय में कांग्रेस से मुख्य विपक्षी दल का ओहदा छिन गया है. अब टीएमसी के पास पश्चिम बंगाल के बाद मेघालय में सबसे ज्यादा विधायक हैं. टीएमसी मेघालय में अब प्रमुख विपक्षी दल है. मेघायल की 60 विधानसभा सीटों में से 40 एनडीए गठबंधन की हैं. कांग्रेस के 17 विधायकों में से 12 टीएमसी में गए हैं. इनकी कुल संख्या दो तिहाई के बराबर है. ऐसे में इन पर दल-बदल कानून लागू नहीं होगा.

ये भी पढ़ें

Punjab के फिरोजपुर में CM Channi का जबरदस्त विरोध, काफिले पर पथराव

Sameer Wankhede Vs Nawab Malik: नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े की मां का डेथ सर्टिफिकेट किया जारी, जानिए अब कौन-से फर्जीवाड़े का लगाया आरोप



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here