दिल्ली में वायु प्रदूषण से थोड़ी राहत, हवा की गुणवत्ता अब भी खराब

[ad_1]

Delhi Air Pollution: दिल्ली की वायु गुणवत्ता, पिछले 22 दिनों  से “बहुत खराब” और “गंभीर” श्रेणी के बीच उतार-चढ़ाव कर रही है. वहीं मंगलवार शाम 4 बजे ओवरऑल वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 290 दर्ज किया गया. बता दें कि  मध्यम हवाओं ने मंगलवार को प्रदूषकों को बाहर निकालने में मदद की., शाम को शांत हवा की स्थिति बनी रहने के कारण राहत मिली लेकिन यह कुछ समय के लिए ही थी क्योंकि रात 8 बजे तक हवा की गुणवत्ता फिर से “बहुत खराब” श्रेणी में आ गई.

भारत मौसम विज्ञान विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक आर के जेनामणि ने कहा, “दोपहर के दौरान हवा की गति 8-12 किमी प्रति घंटे तक चली, लेकिन शाम के समय शांत हवा दर्ज की गई.” मौसम विभाग के एक अन्य अधिकारी ने कहा, “सोमवार को तेज हवाएं चलीं और गति 25 किमी प्रति घंटे को भी छू गई. सोमवार को अपेक्षाकृत बेहतर हवाओं के कारण सोमवार दोपहर से हवा की गुणवत्ता में सुधार होने लगा इसलिए, मंगलवार को शाम 4 बजे  दिल्ली का 24 घंटे का औसत एक्यूआई सुधरकर ‘खराब’ श्रेणी में दर्ज किया गया.  मंगलवार शाम को हवा की गति फिर से बिगड़ गई, और शांत हवा प्रदूषकों के संचय की ओर ले गई.

आज वायु गुणवत्ता “खराब” या “बहुत खराब” श्रेणी में रहने की संभावना

वहीं दिल्ली के लिए वायु गुणवत्ता पूर्व चेतावनी प्रणाली के अनुसार, बुधवार यानी आज हवा की गुणवत्ता “खराब” या “बहुत खराब” श्रेणी के निचले सिरे और गुरुवार से “बहुत खराब” श्रेणी में रहने की संभावना है. वहीं जेनमनी ने कहा, “अगले तीन-चार दिनों तक हवा की गति कम रहने की उम्मीद है.” शहर के बेस स्टेशन सफदरजंग और पालम में आज विजिबिलिटी 1,500-2,200 मीटर के बीच रही.

आने वाले दिनों में ‘खराब’ श्रेणी में हवा की गुणवत्ता में और सुधार होगा

सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR) ने कहा है कि हवा की गुणवत्ता ‘खराब’ रह सकती है. “परिवहन स्तर पर हवाएं धीमी हो सकती हैं और बुधवार को उत्तर-पश्चिम से दक्षिण/दक्षिण-पूर्व की दिशा में और 25 नवंबर को उत्तर या उत्तर-पश्चिम में दिशा बदल सकती हैं, जिससे ‘खराब’ श्रेणी में हवा की गुणवत्ता में और सुधार होगा. स्थानीय सतही हवाएं भी अपेक्षाकृत कम हैं जिससे अगले तीन दिनों के लिए प्रदूषकों का फैलाव कम हो सकता है.”

27 नवंबर से  स्थानीय सतही हवाओं के बढ़ने की संभावना

SAFAR ने भविष्यवाणी की है कि, “27 नवंबर से सतही हवाओं के बढ़ने की संभावना हैय इसलिए अगले तीन दिनों तक हवा की गुणवत्ता ‘खराब’ श्रेणी में रहने की संभावना है. 27 नवंबर से, स्थानीय सतही हवाओं के बढ़ने की संभावना है, जिसके परिणामस्वरूप हवा की गुणवत्ता में सुधार होगा। , लेकिन इसके ‘खराब’ श्रेणी में होने की उम्मीद है. प्रभावी पराली आग की संख्या 770 है और दिल्ली के PM2.5 में इसकी हिस्सेदारी 3% है.”

ये भी पढ़ें

UPPSC Recruitment 2021: उत्तर प्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन ने निकाली बंपर भर्तियां, जानें आवेदन प्रक्रिया से लेकर योग्यता तक सब कुछ

Chhattisgarh News: अम्बिकापुर में शराब की दुकान पर आबकारी विभाग की रेड, काफी मात्रा में मिलावटी शराब बरामद

[ad_2]

Source link

Leave a Reply