ब्रिटेन के बाद किन-किन देशों में मिले नए कोरोना वेरिएंट 'ओमिक्रोन' के मामले, दहशत में दुनिया!

[ad_1]

Omicron Cases Across The World: सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में आए कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन से पूरी दुनिया चिंता में है. यह वेरिएंट दक्षिण अफ्रीका से बाहर निकलकर अन्य देशों में भी पहुंच गया है. अब दूसरे देशों में भी इसके मामले सामने आने लगे हैं. ब्रिटेन के साथ-साथ कई यूरोपीय देशों में ओमिक्रोन के केस मिले हैं. ब्रिटेन में शनिवार को दो मरीज कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन से संक्रमित मिले. इसके साथ ही अब यूरोपीय देशों में यह ज्यादा संक्रामक नजर आ रहा है.

ब्रिटेन सरकार ने शनिवार को कहा कि देश में कोरोना वायरस के नए स्वरूप ओमिक्रोन के दो मामलों की पुष्टि हुई है. स्वास्थ्य मंत्री साजिद जावेद ने बताया कि ब्रिटेन स्वास्थ्य सुरक्षा एजेंसी (यूकेएचएसए) ने चेम्सफोर्ड और नॉटिंघम में वायरस के नए स्वरूप से संक्रमित मरीजों की पहचान की. दोनों मामले एक दूसरे से जुड़े हैं. दोनों मरीज अपने-अपने घरों पर पृथक-वास में हैं और उनके संपर्क में आए लोगों की तलाश की जा रही है.

यूके ने शनिवार को दो मामले मिलने के बाद मास्क पहनने और अंतरराष्ट्रीय आगमन के के दौरान परीक्षण को लेकर अपने नियमों को और कड़ा कर दिया. इसके साथ ही वायरस के नए स्वरूप के मामलों के मद्देनजर अफ्रीका के चार और देशों को ब्रिटेन की यात्रा संबंधी ‘रेड लिस्ट’ में शामिल किया गया है. इनमें अंगोला, मोजाम्बिक, मलावी और जाम्बिया शामिल हैं.

जर्मनी और इटली में भी मिले केस
वहीं, ब्रिटेन अलावा जर्मनी और इटली में भी शनिवार को कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन नए मामलों की पुष्टि की गई. इटली की समाचार एजेंसी लाप्रेसे के अनुसार, मोज़ाम्बिक की यात्रा करने वाले एक इटली के नागरिक में ओमिक्रोन वेरिएंट पाया गया है, उसका टेस्ट पॉजिटिव आया है. वह यात्रा करके 11 नवंबर को रोम लौटा था.

वहीं, जर्मनी में दो लोगों में ओमिक्रोन वेरिएंट पाया गया है. दोनों मरीज 24 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका से जर्मनी पहुंचे थे. दोनों का टेस्ट ओमिक्रोन वेरिएंट के लिए पॉजिटिव पाया गया है.

इससे पहले कई देशों में मिले ओमिक्रोन के मरीज
संभावित रूप से अधिक संक्रामक बी.1.1.529 स्वरूप के बारे में पहली बार 24 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका द्वारा विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) को सूचित किया गया था और इसके बाद बोत्सवाना, बेल्जियम, हांगकांग और इजराइल में भी इसकी पहचान की गई है. 

डब्ल्यूएचओ ने शुक्रवार को इसे ‘‘चिंताजनक’’ स्वरूप बताते हुए ओमीक्रोन नाम दिया. ‘‘चिंताजनक स्वरूप’’ डब्ल्यूएचओ की कोरोना वायरस के ज्यादा खतरनाक स्वरूपों की शीर्ष श्रेणी है.

यह भी पढ़ें-
Covid New Variant: कई देशों से लगी पाबंदियों से परेशान हुआ दक्षिण अफ्रीका, बोला- कोरोना का नया वैरिएंट पता करने की मिली सजा
Maharashtra Government: उद्धव सरकार के दो साल पूरे, सरकार मना रही है जश्न तो विपक्ष खोलेगा मोर्चा

[ad_2]

Source link

Leave a Reply