मुंबई के धारावी मॉडल ने एक बार फिर दी कोरोना को मात, ऐसे कम होते चले गए केस

Mumbai Dharavi model: मुंबई में बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी बस्ती धारावी भी तीसरी लहर के चपेट में आ गयी थी. रोजाना यहां करीब 150 कोरोना के मामले दर्ज होते थे, लेकिन एक हफ्ते के भीतर धारावी मॉडल का इस्तेमाल कर बढ़ते मामलों को कंट्रोल कर दिया गया है. ये सब कैसे हुआ जानिए… 

धारावी जी नॉर्थ वार्ड के क्षेत्र में आता है और कोरोना की शुरुआत से जी नॉर्थ वार्ड के अफसरों ने मिलकर कोरोना को नियंत्रण में लाने पर काम किया था. सहायक नगर आयुक्त किरण दिघवकर ने एबीपी न्यूज़ को बताया के 7 जनवरी को 150 मामले दर्ज हुए थे जो कि रिकॉर्ड तोड़ आंकड़ा था. 

धारावी मॉडल में टेस्टिंग और ट्रेसिंग पर जोर
धारावी में 80% लोग कम्युनिटी टॉयलेट का इस्तेमाल करते हैं, इसीलिए संक्रमण को ट्रेस करना काफी मुश्किल होता है. हमने धारावी मॉडल में टेस्टिंग, ट्रेसिंग और ट्रीटिंग पर ज्यादा ध्यान दिया है. मोबाइल वैन तैनात है जो घर-घर जाकर लोगों की जांच करती है. 9 क्लिनिक हैं जहां लोग डॉक्टरों से मिलकर अपना इलाज कर सकते हैं. हमने टीककरण पर ज्यादा ज़ोर दिया है. शुरू में मामले बढ़ रहे थे, लेकिन इस हफ्ते से फिर से मामले कम होने शुरू हो चुके हैं.

सहायक नगर आयुक्त , मुंबई महानगर पालिका किरण दिघवकर ने बताया कि, 27 दिसंबर को 29 एक्टिव केस थे आज 686 एक्टिव मामले हो चुके हैं. उमीद है मामले आगे कम हो जाएंगे. 

ये भी पढें – Delhi और Mumbai के लिए बेहतर खबर, कल के मुकाबले कम आए Corona केस, पढ़ें 10 दिनों के आंकड़े

धारावी में तीसरी लहर ने दी थी दस्तक, ऐसे कम होते चले गए केस – 

  • 7 जनवरी पॉजिटिव मरीज – 150, एक्टिव केस – 588
  • 9 जनवरी पॉजिटिव मरीज – 123,  एक्टिव केस – 849
  • 10 जनवरी पॉजिटिव  मरीज – 97, एक्टिव केस – 943
  • 11 जनवरी  पॉजिटिव मरीज – 51,  एक्टिव केस – 756
  • 12 जनवरी पॉजिटिव मरीज – 69, एक्टिव केस – 756
  • 13 जनवरी पॉजिटिव मरीज – 49, एक्टिव केस – 686
  • 14 जनवरी पॉजिटिव मरीज – 32, एक्टिव केस – 568

वैक्सीनेशन की रफ्तार भी तेज
धारावी मॉडल में वैक्सीनेशन की स्पीड को बढ़ाकर कोरोना को मात देने की कोशिश की जा रही है.  लोकमान्य तिलक मेडिकल कॉलेज का वैक्सीनेशन सेंटर धारावी में स्थित है और अब तक 1 लाख से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है. लोकमान्य तिलक मेडिकल कॉलेज की डॉ जया ने एबीपी न्यूज़ को बताया के अगर केंद्र लोगों के नजदीक होगा तो लोग वैक्सीन जल्दी लेंगे. बढ़ते मामलों मे बीच टीकाकरण ने लोगों को सुरक्षित किया है.

टेस्ट करवाने वालों की संख्या हुई कम
इतना ही नहीं धारावी में नागरिकों की सुविधा के लिए क्लिनिक तैयार किये गए हैं. जहां सारी सुविधाएं नागरिकों के लिए रखी गई हैं. कुंभरवाडा धारावी दवाखाना की डॉ तलत हुसैन ने बताया कि पिछले हफ्ते एक दिन में कई लोग टेस्ट कराने आते थे, लेकिन सोमवार से यह टेस्टिंग काफी कम हो गई है. 

ये भी पढें – Gen Rawat Chopper Crash: CDS जनरल बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर कैसे हुआ था हादसे का शिकार, वायुसेना ने बयान जारी कर बताया

Bihar News

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Bnews. Publisher:
News Publisher link

Leave a Reply