लखनऊ एयरपोर्ट पर पहुंचने वाले यात्रियों के लिए प्रोटोकॉल जारी, इन नियमों का पालन जरूरी

[ad_1]

कोरोना वायरस के नए रूप ओमिक्रोन को लेकर देशभर में सतर्कता बरती जा रही है. इसी दिशा में लखनऊ के जिलाधिकारी ने हवाई अड्डे पर आने वाले यात्रियों के लिए नए दिशा-निर्दश जारी किए हैं. इनके मुताबिक अंतरराष्ट्रीय यात्रा से आने वाले लोगों के लिए 8 दिन के होम क्वारंटीन को अनिवार्य बनाया गया है. लखनऊ पहुंचने पर इन यात्रियों का आरटीपीसीआर टेस्ट कराया जाएगा और उनका एक विस्तृत रजिस्टर भी बनाया जाएगा. 

इंटरनेशनल टर्मिनल पर क्या होगा

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश की ओर से ये दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं. इनके मुताबिक लखनऊ हवाई अड्डे के अंतरराष्ट्रीय टर्मिनल पर आने वाले सभी यात्रियों की थर्मल स्कैनिंग की जाएगी. उनका मुफ्त में आरटी-पीसीआर टेस्ट कराया जाएगा. लखनऊ आने वाले यात्रियों के नाम, पता, टेलीफोन नंबर और उस स्थान का पूरा पता एक रजिस्टर पर दर्ज किया जाएगा, जहां से वे आ रहे हैं. इन सूचनाओं को निर्धारित पोर्टल पर इंटरनेशन ट्रेवलर कैटेगरी में दर्ज किया जाएगा. 

जिलाधिकारी की ओर से जारी दिशा-निर्देश के मुताबिक अंतरराष्ट्रीय टर्मिनल पर आने वाले सभी यात्रियों को 8 दिन तक होम क्वारंटीन में रहना होगा. क्वारंटीन पूरा होने पर उनका फिर से आरटी-पीसीआर टेस्ट कराया जाएगा. इसमें कोरोना पॉजिटिव मिले लोगों का इलाज कोरोना प्रोटोकॉल के मुताबिक किया जाएगा.

डोमेस्टिक टर्मिनल पर क्या होगा

वहीं डोमेस्टिक टर्मिनल पर आने वाले सभी यात्रियों की थर्मल स्कैनिग की जाएगी. इसमें जिन यात्रियों में कोरोना के लक्षण नजर आएंगे, उनका आरटी-पीसीआर टेस्ट कराया जाएगा. वहीं 10 फीसदी यात्रियों का रैंडम तरीके से आरटी-पीसीआर टेस्ट किया जाएगा. इन यात्रियों की जानकारी वाला एक रजिस्टर भी तैयार किया जाएगा.

उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री ने क्या कहा
 
इस बीच उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री जयप्रताप सिंह ने कहा है, ”हमारे देश में अभी ओमीक्रोन का केस नहीं आया है, जो 1-2 केस है उसका अभी पता नहीं चल पा रहा है कि वो ओमीक्रोन ही है. लेकिन हमने इसके लिए तैयारी की है. उत्तर प्रदेश में बाहर से आए यात्रियों का RT-PCR टेस्ट करना अनिवार्य है.”

उन्होंने कहा, ”हमने कहा है कि यात्रियों को 7 दिन के लिए क्वारंटीन कर जांच की जाए और उनकी ट्रैवल हिस्ट्री भी निकाली जाए. हमने सभी ज़िले के सीएमओ और उनसे संबंधित लोगों को दिशा-निर्देश दे दिया है. हम टेस्टिंग संख्या को भी बढ़ा रहे हैं.”

यह भी पढ़ें

Omicron China Connection: ओमीक्रोन का क्या है चीन कनेक्शन! आखिर WHO ने कोरोना के नए वेरिएंट का नाम यही क्यों रखा?

Omicron Variant: कोरोना के नए वेरिएंट का बढ़ा खतरा, जानें ओमीक्रोन को लेकर क्या बोले पीएम मोदी

[ad_2]

Source link

Leave a Reply