Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वाराणसी6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

श्री शिव प्रसाद गुप्त मंडलीय जिला चिकित्सालय का स्लिप जिस पर मरीज के भागने की बात लिखी हैं। 

  • SDM राजातालाब को जब पता चला तो अपनी गाड़ी से अस्पताल भेजे
  • PHC से कबीरचौरा मंडलीय अस्पताल रेफर किया गया था

वाराणसी के राजातालाब तहसील में मंगलवार को बुजुर्ग ने SDM मणिकंदन से मुलाकात न हो पाने के कारण विषाक्त पदार्थ खा लिया। जैसे ही SDM को पता चला उन्होंने अपनी गाड़ी से बुजुर्ग को राजातालाब PHC भिजवाया। जहां डॉक्टरों ने हालत बिगड़ती देख बुजुर्ग को मंडलीय जिला चिकित्सालय कबीरचौरा रेफर कर दिया। यहां भर्ती होने के बाद ईलाज शुरू हुआ। कुछ ही देर में बुजुर्ग व्यक्ति अस्पताल से भाग गया।

SDM के मीटिंग में होने की वजह से मुलाकात नही हो पाई

बताया जा रहा है कि रोहनिया थाना क्षेत्र के बलिरामपुर निवासी बुजुर्ग राम चंद्र पटेल ने जमीन पर कब्जे को लेकर SDM के कोर्ट में करीब आठ माह पहले वाद दाखिल किया था। बहुत दिनों से सुनवाई न होने की वजह से नाराज होकर उसने विषाक्त पदार्थ खा लिया। आज भी SDM के मीटिंग में होने की वजह से मुलाकात नही हो पायी।

मंडलीय जिला चिकित्सालय की पहली स्लिप जिस पर मरीज के भर्ती होने की बात लिखी है।

मंडलीय जिला चिकित्सालय की पहली स्लिप जिस पर मरीज के भर्ती होने की बात लिखी है।

मंडलीय अस्पताल से उपचार के दौरान फरार हुआ

नायाब तहसीलदार नीरज ने बताया बुजुर्ग को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वो स्वस्थ्य हो गया होगा तो चला गया होगा। उसने किस वजह से चूहे मारने की दवा खाई किसी को बताया भी नही। अपनी बातों को रख कर कोई पत्र भी उसने नही दिया हैं। आगे मामला पता किया जायेगा। फिलहाल बुजुर्ग के परिवार का कोई सदस्य भी साथ नही था।

मंडलीय जिला चिकित्सालय के डॉक्टर ने बुजुर्ग का ईलाज शुरू कर दिया था।

मंडलीय जिला चिकित्सालय के डॉक्टर ने बुजुर्ग का ईलाज शुरू कर दिया था।

बुजुर्ग के भागने से डॉक्टर भी हैरान

डॉ ओम प्रकाश ने बताया कार्डियो में उसे भर्ती किया गया था। इंजेक्शन दवा उसको दिया गया। कुछ पुलिसकर्मी उसे लेकर यहां आये थे। स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज स्लिप बनता हैं। अकेले होने पर मौका देख कर भाग गया। हम लोगो को भी वजह नही मालूम। बुजुर्ग के परिजनों से संपर्क करने का प्रयास किया जा रहा हैं। बुजुर्ग को अस्पताल लाने वाले गार्ड त्रिकोली ने बताया रास्ते में वो पान खाने की जिद्द कर रहा था। बोल रहा था ,थोड़ा सा खाये हैं। भर्ती मत करिये कुछ होगा नहीं।

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Bnews. : Publisher

Leave a Reply