हाइलाइट्स:

  • बस्ती पुलिस और आरपीएफ टीम ने उसे बेंगलुरु के एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया
  • 2016 में जिले के पुरानी बस्ती से सीबीआई ने ई-टिकट के अवैध कारोबार के सिलसिले में गिरफ्तार किया था
  • आरोपी के पास से 1.55 लाख रुपये नकद बरामद हुए

बस्ती
टेरर फंडिंग व अवैध सॉफ्टवेयर के जरिए रेलवे के ई-टिकट की कालाबाजारी करने वाला 50 हजार का इनामी अंतरराष्ट्रीय सरगना मोहम्मद हामिद अशरफ को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बस्ती पुलिस और आरपीएफ टीम ने उसे बेंगलुरु के एयरपोर्ट से दुबई जाते वक्त गिरफ्तार कर बस्ती ले आई है। उसके पास से 1.55 लाख रुपये नकद बरामद हुए हैं।

2016 में पहले भी हो चुका है गिरफ्तार
बस्ती जिले के कप्तानगंज थाना क्षेत्र के रतासी उर्फ कप्तानगंज का रहने वाला मोहम्मद हामिद अशरफ को पहली बार अप्रैल 2016 में जिले के पुरानी बस्ती से सीबीआई ने ई-टिकट के अवैध कारोबार के सिलसिले में गिरफ्तार किया था। उसके बाद जनवरी 2019 में डीजी आरपीएफ अरुण ने दिल्ली में एक प्रेसवार्ता कर बताया था कि अवैध सॉफ्टवेयर के जरिए रेलवे के ई-टिकट से कमाई गई रकम को टेरर फंडिंग में प्रयोग किया जा रहा है और इस इस गैंग का मुख्य सरगना उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले का रहने वाला मोहम्मद हामिद अशरफ है, जो फरार है।

इसके बाद आरपीएफ सक्रिय हुई और बस्ती पुलिस ने उसकी तलाश में ताबड़तोड़ कार्रवाई करते हुए उसके करीबी रहे सलमान व शमशेर के साथ ही मेन कैशियर मनोज महतो सहित दर्जनों लोगों को देश के विभिन्न राज्यों से गिरफ्तार कर जेल भेजा।

गोंडा के एक स्कूल में बम ब्लास्ट का भी है आरोपी
अभी कुछ दिन पहले ही बस्ती पुलिस ने मोहम्मद हामिद के कप्तानगंज थाने के रतास उर्फ कप्तानगंज गांव में उसके आवास पर छापामारी कर करोड़ों की संपत्ति से संबंधित दस्तावेज बरामद कर हामिद के पिता जमीरुल हसन उर्फ लल्ला सहित कई लोगों को गिरफ्तार किया था। मोहम्मद हामिद पर गोंडा में भी अपने एक साथी के स्कूल पर बम ब्लास्ट के आरोप में वहां की पुलिस तलाश कर रही थी। गोंडा पुलिस ने भी हामिद के कप्तानगंज स्थित आवास पर कई बार छापेमारी की थी। लेकिन उसके हाथ सफलता नहीं लग पाई थी। मोहम्मद हामिद अशरफ की गिरफ्तारी से कई अहम खुलासा होने की उम्मीद है।

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Bnews. : Publisher

Leave a Reply