पटना. बिहार की राजधानी पटना (Patna) के आयांश को अचानक तबीयत बिगड़ गई है जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. आयांश (Ayansh) को सांस लेने में दिक्कत होने के बाद उसकी मां नेहा सिंह ने तत्काल पटना के उदयन अस्पताल (Udayan Hospital) में भर्ती करवाया. अस्पताल ले जाने के समय आयांश का ऑक्सीजन लेवल (Oxygen Level) 80 के करीब था. नेहा सिंह ने बताया कि मंगलवार की रात आयांश को अचानक सांस लेने में दिक्कत होने लगी और बुखार आ गया जिसके बाद उसे तत्काल अस्पताल में भर्ती कराया गया.

डॉक्टरों ने जांच के बाद आयांश को फौरन ऑक्सीजन सपोर्ट (Oxygen Support) पर रख दिया. आयांश की मां उसके जल्द स्वस्थ होने की दुआएं मांग रही हैं. डॉक्टरो के मुताबिक आयांश का इलाज जारी है, उसे वायरल फीवर होने की संभावना जताई जा रही है.

आयांश को 16 करोड़ रुपये के इंजेक्शन की जरूरत
दरअसल दस महीने का आयांश स्पाइनल ट्रॉफी नाम के दुर्लभ बीमारी से ग्रसित है. डॉक्टरों के मुताबिक इस बीमारी के इलाज के लिए अमेरिका में मिलने वाला 16 करोड़ रुपये का इंजेक्शन ही अंतिम उपाय है. आयांश के माता-पिता ने बेंगलुरू जाकर उसकी जांच करवाई थी तब उन्हें इस दुर्लभ बीमारी का पता चला था.

आयांश की मां नेहा सिंह सोशल मीडिया और क्राउड फंडिंग के जरिए पैसा जुटाने में लगी हुई हैं ताकि वो अपने बेटे को बचा सकें. उन्होंने बताया कि इस तरह अभी तक आठ करोड़ रुपये जुटाया गया है जबकि इतनी ही राशि की और जरूरत है. आयांश के माता-पिता के अनुसार डॉक्टरों ने बताया है कि अगर इंजेक्शन नहीं लगे तो उनका बच्चा लगभग दो साल ही जिंदा रह सकता है.

जनता दरबार के लिए भी दे चुका है परिवार धरना
बता दें कि आयांश के इलाज के लिए उसके माता-पिता जनता दरबार में जाकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से गुहार लगाने की परमिशन भी मांग चुके हैं. पर नहीं मिलने के कारण पिछले दिनों जनता दरबार के बाहर ही धरने पर बैठ गए थे ताकि उनकी बात सुनी जा सके.

आयांश को बचाने के लिए बीजेपी के सांसद रामकृपाल यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को मदद के लिए चिट्ठी लिख चुके हैं. वहीं, दूसरी तरफ भोजपुरी से जुड़े कई फिल्मी कलाकारों ने भी आगे आकर आयांश की मदद के लिए अपील किया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Bnews. : Publisher

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *