जिनेवा: विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख ने कोविड-19 टीके बनाने वाली कंपनियों और धनी देशों से अपील की कि वे “द्विपक्षीय सौदे करना बंद करें”. उसने कहा कि वे टीके तक सबकी पहुंच को सुनिश्चित करने के संयुक्त राष्ट्र के प्रयास को नुकसान पहुंचा रहे हैं. डब्ल्यूएचओ के प्रमुख टेड्रोस अधनोम घेब्रेयसस ने कहा कि अब तक 42 देशों ने इसके टीके लगाने शुरू किए हैं, जिनमें ज्यादातर उच्च-आय वाले देश और कुछ मध्यम-आय वाले देश शामिल हैं.

उन्होंने उन देशों से आह्वान किया, जिनके पास अधिक मात्रा में टीके उपलब्ध हैं कि उन्हें ‘कोवैक्स फैसिलिटी’ के लिए टीके उपलब्ध कराने चाहिए, जो संयुक्त राष्ट्र समर्थित एक परियोजना है. जिनेवा में उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ” हम दोनों उच्च और मध्यम आय वाले देशों को भी देख रहे हैं जो कोवैक्स का हिस्सा हैं, जो अतिरिक्त द्विपक्षीय सौदे कर रहे हैं.”

उन्होंने कहा कि इससे संभावित रूप से सभी के लिए टीके की कीमत बढ़ जाएगी और इसका मतलब है कि सबसे गरीब और सबसे पिछड़े देशों में लोगों को टीका नहीं लगेंगे.” डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक ने कहा, “मैं इन देशों और निर्माताओं से द्विपक्षीय सौदे नहीं करने का आग्रह करता हूं.”

कम आपूर्ति होने पर कोविड-19 टीके की खुराकों के बीच बढ़ सकता है अंतर

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के विशेषज्ञों ने सुझाव दिया कि फाइजर-बायोएनटेक के कोविड-19 रोधी टीके की दो खुराकों के बीच अंतराल को छह सप्ताह तक विस्तारित किया जा सकता है. डब्ल्यूएचओ के विशेषज्ञों के टीकाकरण संबंधी रणनीतिक सलाहकार समूह ने टीके की पूर्ण समीक्षा के बाद औपचारिक रूप से अपना परामर्श प्रकाशित किया. इसने कहा कि टीकों की खुराकों के बीच 21 से 28 दिन तक का अंतराल हो सकता है.

संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी ने इसके साथ ही यह भी कहा कि कई देशों को कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में वृद्धि के साथ ही टीके की आपूर्ति में बाधा संबंधी असाधारण परिस्थितियों का सामना करना पड़ रहा है और कई देश शुरुआती कवरेज को बढ़ाने के लिए दूसरी खुराक देने में विलंब करने पर विचार कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें
हमेशा के लिए साथ छोड़कर गई आलिया भट्ट की बिल्ली, एक्ट्रेस ने इस अंदाज में दी आखिरी विदाई
नोरा फतेही का बोल्ड डांस वीडियो सोशल मीडिया पर मचा रहा धूम, यहां देखें

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Bnews. : Publisher

Leave a Reply